Powerful Sex Medicine That Helps You Build & Maintain a Relationship
Add your content here

सेक्स पावर क्या है? हो सकता है कि कुछ लोगों को यौन जीवन?

सेक्स पावर क्या है? हो सकता है कि कुछ लोगों को यौन जीवन?

Home

पुरुषों में सेक्स समस्याएँ

सेक्स समस्या या रोग का मतलब ऐसी समस्या से है जो सेक्सुअल रिस्पोंस सायकल के किसी भी चरण में हो सकती है जिसके कारण पुरुष या संपत्ति सेक्स में संतुष्टि का अनुभव नहीं कर पाते हैं| सेक्सुअल रिस्पोंस सायकल में चार चरण होते हैं: उत्तेजना, स्थिरता, चरम और वियोजन|

शोध बताते हैं कि सेक्स संबंधी रोग एक बहुत आम बात है (43% महिलाएँ और 31% पुरुष कुछ न कुछ कठिनाई का सामना करते हैं), लेकिन यह एक ऐसा विषय है जिसके बारे में बात करने से कई लोग संकोच करते हैं| अच्छी बात यह है, ज्यादातर सेक्स संबंधी रोगों का उपचार संभव है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी परेशानी अपने साथी और डॉक्टर को बताएँ|

पुरुषों में सेक्स समस्याओं के क्या कारण हैं?

पुरुषों में सेक्स रोग किसी शारीरिक या मनोवैज्ञानिक समस्या के कारण हो सकते हैं|

  • शारीरिक कारण: कई शारीरिक और मेडिकल स्थितियां सेक्स प्रणाली में समस्या पैदा कर सकती हैं| इन स्थितियों में डायबिटीज, ह्रदय और रक्त वाहिनी के रोग, स्नायुतंत्र संबंधी रोग, हार्मोन असंतुलन, किडनी और लिवर फेल होने जैसी घातक बीमारियाँ, और शराब व ड्रग्स का प्रयोग शामिल हैं| इसके अलावा, अवसादरोधी दवाओं सहित कुछ दवाइयों के दुष्प्रभाव से सेक्स की इच्छा और फंक्शन पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है|

  • मनोवैज्ञानिक कारण: इनमें काम से जुड़ा तनाव और चिंता, सेक्स में परफॉरमेंस की चिंता, विवाह या संबंधों में परेशानी, अवसाद, ग्लानि, और बीते कल में सेक्स से जुड़ा कोई आघात शामिल है|

सेक्स समस्याओं से कौन प्रभावित हो सकता है?

पुरुषों और महिलाओं दोनों पर ही सेक्स समस्याओं का प्रभाव पड़ सकता है| किसी भी उम्र के वयस्क व्यक्ति को सेक्स समस्या हो सकती है| इनमें आम तौर पर वृद्धावस्था के लोग हो सकते हैं, जिसका संबंध उम्र के साथ बिगड़ते स्वास्थ्य से हो सकता है|

पुरुषों पर सेक्स समस्याओं का किस तरह का प्रभाव पड़ता है?

पुरुषों में सबसे आम सेक्स समस्याएँ वीर्यपतन, स्तंभन दोष, और सेक्स की इच्छा में कमी है|

वीर्यपतन दोष क्या है?

पुरुषों में वीर्यपतन दोष कई प्रकार के होते हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  • शीघ्रपतन: इसका मतलब यह है कि पेनीट्रेशन से पहले ही या जल्द ही वीर्यपतन हो जाता है|
  • कम या अवरुद्ध वीर्यपतन: जब वीर्यपतन धीमा होता है|
  • पश्चगामी पीर्यपतन: यह तब होता है, जब ओर्गैज्म के समय वीर्य युरेथरा से शिश्न के सिरे से बाहर आने की बजाए ब्लैडर में चला जाता है|

कुछ मामलों में शीघ्रपतन या अवरुद्ध वीर्यपतन मनोवैज्ञानिक कारणों से होता है जिनमें सख्त धार्मिक पृष्ठभूमि भी शामिल है क्योंकि ऐसे में व्यक्ति को सेक्स पाप लगता है, साथी के प्रति आकर्षण की कमी या किसी ह्रदयविदारक घटना के बाद आघात लगने के कारण भी ऐसा हो सकता है| शीघ्रपतन पुरुषों होने वाला सबसे आम सेक्स रोग है, अक्सर ऐसा सेक्स में परफोर्मेंस को लेकर घबराहट के कारण होता है| अवसाद रोधी दवाओं सहित कुछ दवाओं के प्रभाव से भी शीघ्रपतन हो सकता है, क्योंकि इससे पीठ और रीढ़ की हड्डी क्षतिग्रस्त हो सकती है|

पश्चगामी वीर्यपतन डायबिटीज से पीड़ित उन पुरुषों में आम है जिन्हें डायबिटिक न्यूरोपैथी (स्नायु क्षति) हुई है| यह ब्लैडर या ब्लैडर के स्नायुओं में किसी समस्या के कारण हो सकता है क्योंकि ब्लैडर और ब्लैडर नेक ही वीर्य को आगे की ओर धक्का देते हैं| अन्य पुरुषों में, पश्चगामी वीर्यपतन ब्लैडर या प्रोस्टेट के ऑपरेशन के बाद अथवा पेट के किसी ऑपरेशन के बाद हो सकता है| इसके अलावा, कुछ दवाओं , विशेष रूप से जिनका प्रयोग मूड संबंधी रोगों के लिए किया जाता है, के कारण वीर्यपतन की समस्या हो सकती हो|

स्तंभन दोष क्या है?

इसे नपुंसकता के रूप में भी जाना जाता है, स्तंभन दोष से आशय है सम्भोग के लिए उपयुक्त इरेक्शन न होना या इरेक्शन न ठहरना| स्तंभन दोष के कारणों में रक्त संचार को प्रभावित करने वाले रोग, जी एथेरोक्लेरोसिस (धमनियों का कठोर हो जाना); स्नायु रोग, मनोवैज्ञानिक कारक जैसे तनाव, अवसाद और परफॉरमेंस की चिंता(सेक्स में परफॉर्म करने से जुड़ी घबराहट); और शिश्न में चोट लग्न आदि शामिल हैं| क्रोनिक रोग, कुछ दवाएं और पेरोनी रोग नामक स्वास्थ्य समस्या (शिश्न में स्कार टिश्यू) आदि के कारण भी स्तंभन दोष हो सकते हैं|

सेक्स इच्छा में कमी क्या है?

सेक्स इच्छा में कमी या कामेच्छा न होने का अर्थ है सेक्स संबंधी गतिविधि में रूचि न होना या कम रूचि होना| कामेच्छा में कमी शारीरिक या मनोवैज्ञानिक कारणों से हो सकती है| इसका संबंध टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के कम स्राव से है| इसका कारण कोई मनोवैज्ञानिक समस्या भी हो सकती है जैसे डायबिटीज और उच्च रक्तचाप; कुछ दवाएं जिनमें अवसादरोधी दवाएं शामिल हैं; और संबंधों में आपसी मतभेद आदि|

पुरुषों में सेक्स समस्याओं का निदान कैसे होता है?

डॉक्टर रोग के लिए जिम्मेवार अन्य कारणों अलग करने के लिए कुछ टेस्ट कराने को कहते हैं| डॉक्टर आपको अन्य स्वास्थ्य विशेषज्ञों से मिलने के लिए भी कह सकते हैं, जिनमें यूरोलोजिस्ट (मूत्र मार्ग और पुरुष जनन तंत्र के विशेषज्ञ डॉक्टर), सेक्स थेरेपिस्ट, और अन्य काउंसलर शामिल हैं|

पुरुषों के सेक्स रोगों का उपचार कैसे होता है?

कई मामलों में सेक्स रोग का उपचार उसके लिए जिम्मेवार शारीरिक या मनोवैज्ञानिक समस्याओं का उपचार कर किया जा सकता है| उपचार पद्धति में निम्न चीजें सम्मिलित हो सकती हैं:

  • चिकित्सकीय उपचार: इसमें पुरुषों में सेक्स रोग के लिए जिम्मेवार किसी शारीरिक बीमारी का उपचार शामिल है|
  • दवाएं: Cialis, Levitra, Staxyn, Stendra, या Viagra शिश्न में रक्त संचार बढ़ाकर जैसी दवाएं इरेक्टाइल फंक्शन में सुधार ला सकती हैं| Promescent नामक दवा का प्रयोग शीघ्रपतन के उपचार के लिए किया जाता है| यह शिश्न पर बाहरी रूप से प्रयोग किया जाने वाला स्प्रे है और इसमें lidocainहोता है, जिससे संवेदनशीलता में कमी आती है और स्तंभन पर नियंत्रण रहता है|
  • हॉर्मोन: पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन की कमी में टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी लाभकर हो सकती है|
  • मनोवैज्ञानिक थेरेपी: एक प्रशिक्षित काउंसलर के साथ थेरेपी से व्यक्ति को चिंता, भय या ग्लानि की भावना का समाधान करने में मदद मिलते हैं जिससे सेक्स फंक्शन में सुधार हो सकता है|
  • मशीनी सहायता: वैक्यूम डिवाइस और पीनाइल इम्प्लांट जैसे मशीन एड पुरुषों में स्तंभन दोष के उपचार में कारगर होते हैं|

 

क्या सेक्स समस्याएँ पूरी तरह ठीक हो सकती हैं?

सेक्स रोग के उपचार की सफलता उसके लिए जिम्मेवार कारण में निर्भर करती है| हालाँकि उपचार से ठीक होने वाले शारीरिक रोगों के कारण होने वाले सेक्स रोगों की ठीक होने की अच्छी संभावनाएं रहती हैं|

क्या सेक्स समस्याओं से बचा जा सकता है?

हालाँकि सेक्स रोगों से बचा नहीं जा सकता है, लेकिन रोग के लिए जिम्मेवार कारणों पर ध्यान देकर आप इस समस्या को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं और उनका सामना कर सकते हैं| अच्छा सेक्सुअल फंक्शन बनाए रखने के लिए आप ये उपाय कर सकते हैं:

  • शराब का सीमित सेवन करें
  • धूम्रपान छोड़ दें
  • तनाव, अवसाद और चिंता जैसे भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक कारणों का समाधान निकालें| आवश्यकता हो तो उनका उपचार कराएं|
  • साथी के साथ बातचीत बनाए रखें और आपसी तालमेल बढ़ाएं|

मुझे सेक्स संबंधी समस्याओं के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क किन परिस्थितियों में करना चाहिए?

अगर आप लगातार सेक्सुअल फंक्शन में समस्या का अनुभव करते हैं, तो जांच और उपचार के लिए अपने डॉक्टर से मिलें|